mahendras

IBPS PO 2018 | IBPS Clerk 2018 | IBPS RRB 2018 | SBI PO 2018 | BOB PO 2018 | SSC CGL 2018 | RPF Constable 2018 | RPF SI | RRB ALP 2018 | RRB Group D 2018

Now Subscribe for Free videos

Subscribe Now

Tuesday, 6 February 2018

Spotlight : China Successfully Intercepts Missile Outside Earth's Atmosphere

mahendra Guru

Spotlight : China Successfully Intercepts Missile Outside Earth's Atmosphere

China Successfully Intercepts Missile Outside Earth's Atmosphere
  • China has successfully carried out a mid-course ground-based missile interception test.
  • A ground-based interceptor missile was used to shoot down a ballistic missile during the "mid-course" of its flight outside the earth's atmosphere.
  • The test comes amid months of international tension over North Korea's nuclear weapons and missiles programme.
  • USA has deployed interceptor missiles 'Terminal High Altitude Area Defence' or THAAD in South Korea.
  • China first tested a ground-based mid-course missile interception in 2010. 
  • A second test was conducted in 2013.
  • China says such technology is needed for its own national defence and security.
चीन ने मिसाइल इंटरसेप्ट टेस्ट का आयोजन किया।
  • चीन ने मिड-कोर्स ग्राउंड-आधारित मिसाइल इंटरसेप्शन टेस्ट को सफलतापूर्वक पूरा किया है।
  • पृथ्वी के वायुमंडल के बाहर "मध्य उड़ान" के दौरान बैलिस्टिक मिसाइल को मार गिराने के लिए जमीन आधारित इंटरसेप्टर मिसाइल का इस्तेमाल किया गया था।
  • उत्तर कोरिया के परमाणु हथियारों और मिसाइल कार्यक्रमों पर अंतरराष्ट्रीय तनाव के महीनों के दौरान यह परीक्षण किया गया है।
  • संयुक्त राज्य अमेरिका ने इंटरसेप्टर मिसाइलों 'टर्मिनल हाई आल्टिट्यूड एरिया डिफेंस' या ठाड को दक्षिण कोरिया में तैनात किया है।
  • चीन ने पहले 2010 में जमीन आधारित इंटरसेप्शन परीक्षण किया था।
  • एक दूसरा परीक्षा 2013 में किया थी
  • चीन का कहना है कि इस तरह की तकनीक अपने राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा के लिए आवश्यक है।


Spotlight : India Remains Fastest Growing Domestic Market In 2017: IATA
India Remains Fastest Growing Domestic Market In 2017: IATA
  • India remained the world’s fastest growing domestic aviation market for the third straight year in 2017.
  • Globally Revenue Passenger Kilometres (RPKs) a measure of passenger volumes rose by 7.6 per cent in 2017.
  • The domestic India market posted the fastest full-year growth rate for the third year in a row (17.5 per cent).
  • India registered the highest growth rate of 17.4 per cent.
  • Since late 2014 lower airfares have helped in boosting passenger growth.
  • IATA represents some 280 airlines comprising 83 per cent of global air traffic.
  • This report has been provided by global airlines’ body IATA. 
भारत 2017 में सबसे तेजी से बढ़ता घरेलू बाजार है: आईएटीए
  • भारत 2017 में तीसरे वर्ष के लिए दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता हुआ घरेलू विमानन बाजार बना रहा।
  • वैश्विक राजस्व यात्री किलोमीटर (आरपीके) 2017 में यात्री मात्रा का एक मात्रक 7.6 प्रतिशत बढ़ गया।
  • भारत का घरेलू बाज़ार ने लगातार तीसरी वर्ष भी सबसे तेज विकास दर (17.5 फीसदी) दर्ज किया है।
  • भारत ने 17.4 प्रतिशत की उच्चतम विकास दर दर्ज की।
  • 2014 से कम किराए की वजह से यात्री वृद्धि को बढ़ाने में मदद मिली है
  • आईएटीए ने 280 एयरलाइनों का प्रतिनिधित्व किया है जिसमें 83% वैश्विक हवाई यातायात शामिल हैं।
  • यह रिपोर्ट वैश्विक एयरलाइंस की आईएटीए द्वारा प्रदान की गई है।




Spotlight : India Successfully Test-fires Nuclear Capable Agni-1


India Successfully Test-fires Nuclear Capable Agni-1
  • India successfully test-fired nuclear capable ballistic missile Agni-I. This missile has a strike range of over 700 km.
  • The indigenously developed surface-to-surface missile was launched as a part of a periodic training activity by the Strategic Forces Command (SFC) of the Army to consolidate operational readiness.
  • Weighing around 12 tonnes, the 15-meter-long Agni-I can carry payloads up to 1,000 kg and is capable of hitting a target beyond 700 km. The missile is also capable of carrying nuclear warheads.
  • The Agni-I was developed by the Advanced Systems Laboratory (ASL) in collaboration with the Defence Research Development Laboratory (DRDL) and the Research Centre Imarat (RCI). The missile was integrated by the Bharat Dynamics Limited, Hyderabad.
  • The ASL is the premier missile development laboratory of the Defence Research and Development Organization (DRDO).
परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम अग्नि- 1 का सफल प्रक्षेपण
  • भारत ने परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम अग्नि-1 बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया। इस मिसाइल की मारक क्षमता 700 किलोमीटर से अधिक है। 
  • रक्षा सूत्रों ने बताया कि सतह से सतह पर मार करने में सक्षम और देश में विकसित इस मिसाइल का परीक्षण संचालनात्मक तैयारी को मजबूत करने के लिए सेना की ‘स्ट्रैटेजिक फोर्सेस कमांड’ (एसएफसी) की समय-समय पर की जाने वाली प्रशिक्षण गतिविधि के तहत किया गया। 
  • 12 टन वजनी और 15 मीटर लंबी अग्नि-एक मिसाइल 1000 किलोग्राम तक का पेलोड ले जा सकती है और 700 किलोमीटर तक के लक्ष्य को भेदने में सक्षम है। यह मिसाइल परमाणु आयुध ले जाने में भी सक्षम है।
  • अग्नि-एक को एडवांस्ड सिस्टम्स लैबोरेटरी (एएसएल) ने रक्षा अनुसंधान विकास प्रयोगशाला (डीआरडीएल) और अनुसंधान केंद्र इमारत (आरसीआई) के सहयोग से विकसित किया है। मिसाइल को भारत डायनामिक्स लिमिटेड, हैदराबाद ने समेकित किया है।
  • एएसएल मिसाइल विकसित करने वाली डीआरडीओ की प्रमुख प्रयोगशाला है।


Spotlight : Niti Aayog CEO Amitabh Kant Gets Extension Till June 30, 2019

Niti Aayog CEO Amitabh Kant gets extension till June 30, 2019
  • Niti Aayog CEO Amitabh Kant has been given an extension till June 30 next year, according to an official order. 
  • He was appointed the Chief Executive Officer of the government think tank on February 17, 2016 for a two-year term. 
  • The Appointments Committee of the Cabinet has approved extension of Kant’s tenure till June 30, 2019, the order issued by the personnel ministry said. 
  • Kant is a 1980 batch IAS officer of Kerala cadre. 
  • Before taking over as the CEO of National Institution for Transforming India (Niti Aayog), he was Secretary, Department of Industrial Policy and Promotion.

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत को 30 जून 2019 तक सेवा विस्तार मिला
  • नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत को अगले वर्ष 30 जून तक सेवा विस्तार दिया गया है।
  • एक आधिकारिक आदेश में यह कहा गया है।
  • उन्हें 17 फरवरी 2016 को नीति आयोग का मुख्य कार्यपालक अधिकारी नियुक्त किया गया था।
  • कार्मिक मंत्रालय के आदेश के अनुसार मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने कांत का कार्यकाल 30 जून 2019 तक बढ़ाये जाने को मंजूरी दे दी है।
  • केरल कैडर के कांत 1980 बैच के आईएएस अधिकारी हैं।
  • नीति आयोग का सीईओ बनने से पहले वह औद्योगिक नीति एवं संवर्द्धन विभाग में सचिव थे।

Copyright © 2017-18 www.mahendraguru.com All Right Reserved Powered by Mahendra Educational Pvt . Ltd.