mahendras

Subscribe Mahendras Youtube Channel | Join Mahendras Telegram Channel | Like Mahendras Facebook Page | Online Admission | Download Mahendras App

Now Subscribe for Free videos

Subscribe Now

INS Visakhapatnam commissioned into Indian Navy

Mahendra Guru

INS Visakhapatnam commissioned into Indian Navy / आईएनएस विशाखापत्तनम नौसेना डॉकयार्ड, मुंबई में भारतीय नौसेना में कमीशन

- INS Visakhapatnam, a P15B stealth guided missile destroyer, was commissioned into the Indian Navy in the presence of Raksha Mantri Rajnath Singh at the Naval Dockyard, Mumbai on November 21, 2021. The event marks the formal induction of the first of the four ‘Visakhapatnam’ class destroyers, indigenously designed by the Indian Navy’s in-house organisation Directorate of Naval Design and constructed by Mazagon Dock Shipbuilders Limited, Mumbai. 
- आईएनएस विशाखापत्तनम, जो एक पी15बी स्टील्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक है, को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की उपस्थिति में दिनांक 21 नवंबर, 2021 को नेवल डॉकयार्ड, मुंबई में भारतीय नौसेना में शामिल किया गया । यह आयोजन स्वदेशी रूप से भारतीय नौसेना के इन-हाउस संगठन नौसेना डिजाइन निदेशालय द्वारा डिजाइन किए गए और मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड, मुंबई द्वारा निर्मित विशाखापत्तनम श्रेणी के चार में से पहले विध्वंसक के नौसेना में औपचारिक रूप से शामिल किए जाने का प्रतीक है ।

- INS Visakhapatnam measures 163m in length, 17m in breadth with a displacement of 7,400 tonnes and can rightfully be regarded as one of the most potent warships to have been constructed in India. The ship is propelled by four powerful Gas Turbines, in a Combined Gas and Gas (COGAG) configuration, capable of achieving speeds in excess of 30 knots. The ship has enhanced stealth features resulting in a reduced Radar Cross Section (RCS) achieved through efficient shaping of hull, full beam superstructure design, plated masts and use of radar transparent materials on exposed decks.
- आईएनएस विशाखापत्तनम की लंबाई 163 मीटर, चौड़ाई 17 मीटर है और विस्थापन की इसकी क्षमता 7,400 टन है और इसे भारत में निर्मित सबसे शक्तिशाली युद्धपोतों में से एक माना जा सकता है। जहाज को एक कंबाइंड गैस एंड गैस (सीओजीएजी) विन्यास में चार शक्तिशाली गैस टर्बाइनों द्वारा संचालित किया जाता है, जो 30 समुद्री मील से अधिक गति प्राप्त करने में सक्षम है। जहाज ने स्टील्द विशेषताओं को बढ़ाया है जिसके परिणामस्वरूप घटा हुआ राडार क्रॉस सेक्शन, फुल बीम सुपरस्ट्रक्चर डिजाइन, प्लेटेड मस्तूल सुनिश्चित किए जा सके हैं, साथ ही खुले हुए डेक पर राडार पारदर्शी सामग्री का इस्तेमाल भी किया गया है ।


- The ship is packed with sophisticated state-of-the-art weapons and sensors such as Surface-to-Surface missile and Surface-to-Air missiles. It is fitted with a modern surveillance radar which provides target data to the gunnery weapon systems of the ship. The anti-submarine warfare capabilities are provided by the indigenously developed rocket launchers, torpedo launchers and ASW helicopters. The ship is equipped to fight under Nuclear, Biological and Chemical (NBC) warfare conditions. 
- जहाज अत्याधुनिक हथियारों और सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल और सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल जैसे सेंसर से लैस है। यह एक आधुनिक निगरानी रडार से सुसज्जित है जो जहाज के तोपखाने की हथियार प्रणालियों को टारगेट डेटा प्रदान करता है। पनडुब्बी रोधी युद्ध क्षमताएं स्वदेशी रूप से विकसित रॉकेट लॉन्चर, टारपीडो लॉन्चर और एएसडब्ल्यू हेलीकॉप्टरों द्वारा प्रदान की जाती हैं। जहाज परमाणु, जैविक और रासायनिक (एनबीसी) युद्ध की स्थितियों के तहत लड़ने के लिए सुसज्जित है।


- A unique feature of this ship is the high level of indigenisation incorporated in the production, accentuating the national objective of ‘Aatmanirbhar Bharat’. Some of the major indigenised equipment/system onboard INS Visakhapatnam include Combat Management System, Rocket Launcher, Torpedo Tube Launcher, Integrated Platform Management System, Automated Power Management System, Foldable Hangar Doors, Helo Traversing system, Close-in Weapon System and the Bow mounted SONAR. 
- इस जहाज की एक अनूठी विशेषता उत्पादन में शामिल उच्च स्तर का स्वदेशीकरण है, जो 'आत्मनिर्भर भारत' केराष्ट्रीय उद्देश्य पर जोर देता है । आईएनएस विशाखापत्तनम के कुछ प्रमुख स्वदेशी उपकरण/सिस्टम में कॉम्बैट मैनेजमेंट सिस्टम, रॉकेट लॉन्चर, टॉरपीडो ट्यूब लॉन्चर, इंटीग्रेटेड प्लेटफॉर्म मैनेजमेंट सिस्टम, ऑटोमेटेड पावर मैनेजमेंट सिस्टम, फोल्डेबल हैंगर डोर्स, हेलो ट्रैवर्सिंग सिस्टम, क्लोज-इन वेपन सिस्टम और बो माउंटेड सोनार शामिल हैं ।

Named after the historic city of Andhra Pradesh on the east coast, Visakhapatnam, the ‘City of Destiny’, the ship has a total complement of about 315 personnel. Enhanced crew comfort is a significant feature of INS Visakhapatnam, which has been ensured through ergonomically designed accommodation based on ‘modular’ concepts. The ship will be under the command of Captain Birendra Singh Bains, a Navigation & Direction specialist. 
- पूर्वी तट पर आंध्र प्रदेश के ऐतिहासिक शहर, विशाखापत्तनम- 'द सिटी ऑफ डेस्टिनी' के नाम पर इस जहाज में लगभग 315 कर्मी हैं। चालक दल के लिए अधिक सुविधा आईएनएस विशाखापत्तनम की एक महत्वपूर्ण विशेषता है, जिसे 'मॉड्यूलर' अवधारणाओं के आधार पर एर्गोनॉमिक रूप से डिज़ाइन किए गए एकोमोडेशन के माध्यम से सुनिश्चित किया गया है । यह जहाज नेविगेशन और डायरेक्शन विशेषज्ञ कैप्टन बीरेंद्र सिंह बैंस की कमान में होगा ।

- With the changing power dynamics in the Indian Ocean Region, INS Visakhapatnam will augment the Indian Navy’s mobility, reach and flexibility towards accomplishment of its tasks and goals. 
- हिंद महासागर क्षेत्र में बदलते शक्ति समीकरणों के साथ आईएनएस विशाखापत्तनम अपने कार्यों और लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए भारतीय नौसेना की गतिशीलता, पहुंच और लचीलेपन को बढ़ाएगा ।

0 comments:

Post a Comment

MAHENDRA GURU

Copyright © 2021 www.mahendraguru.com All Right Reserved by Mahendra Educational Pvt . Ltd.