mahendras

IBPS RRB 2018 | SBI Clerk 2018 | SBI PO 2018 | BOB PO 2018 | SSC CGL 2018 | RPF Constable 2018 | RRB ALP 2018 | RRB Group D 2018 | Rajasthan Constable 2018 | UP Police Constable 2018 | RBI Assistant 2018 | RBI Grade B 2018

Now Subscribe for Free videos

Subscribe Now

Monday, 26 March 2018

Spotlight : India Ranks 67 In Fixed Broadband Speed In February: Ookla

mahendra Guru


India ranks 67 in fixed broadband speed in February: Ookla

  • India ranked 67th in terms of fixed broadband speeds and 109th for mobile internet speeds globally in February. The data is released by internet testing and analysis platform Ookla. The company's updated Speedtest Global Index revealed that in absolute terms, India's performance in fixed broadband download speeds have gone up from average speeds of 18.82 mbps in November 2017 to 20.72 mbps in February 2018, marking significant improvement since last quarter.
  • According to the statement, the February Speedtest Global Index showed Norway at pole position in the world for mobile internet with an average download speed of 62.07 Mbps. The Speedtest Global Index compares internet speed data from around the world monthly. It has 7,021 servers globally, out of which 439 speedtest servers are present in India.
फरवरी में स्थिर ब्रॉडबैंड स्पीड में भारत का 67 वां स्थान: ओकोला

  • दुनिया भर में मोबाइल ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में फरवरी में भारत का 67 वें और मोबाइल इंटरनेट गति के लिए 109 वें स्थान पर है। डाटा इंटरनेट परीक्षण और विश्लेषण मंच ओकोला द्वारा जारी किया गया है। कंपनी की अपडेटेड स्पीडटेस्ट ग्लोबल इंडेक्स ने बताया कि पूर्ण रूप से, नवंबर 2017 में 18.82 एमबीपीएस की औसत गति से भारत का प्रदर्शन फरवरी 2018 में 20.72 एमबीपीएस की औसत गति से बढ़कर पिछले तिमाही के दौरान उल्लेखनीय सुधार के संकेत दे रहा है।
  • बयान के मुताबिक, फरवरी स्पीडटेस्ट ग्लोबल इंडेक्स ने नॉर्वे को मोबाइल इंटरनेट के लिए पोल की स्थिति में 62.07 एमबीपीएस की औसत डाउनलोड गति के साथ दिखाया। स्पीडटेस्ट ग्लोबल इंडेक्स ने दुनिया भर के इंटरनेट स्पीड डेटा की मासिक तुलना की है इसमें दुनिया भर में 7,021 सर्वर हैं, जिसमें से 439 स्पीडस्टेस्ट सर्वर भारत में मौजूद हैं।


Spotlight : Sebastian Vettel Wins Australian Grand Prix




Sebastian Vettel Wins Australian Grand Prix
  • Sebastian Vettel was on about to finish third in the 2018 Australian Grand Prix, behind Kimi Raikkonen, and Lewis Hamilton. But, Ferrari snatch victory away from a puzzled from Lewis Hamilton and Mercedes during the first and the only round of pit stops.
  • Vettel clinched his 43rd career win in Formula 1 and also recorded a century of podium finishes in the sport. The other drivers with a 100 podiums include, Michael Schumacher and Hamilton. This was also Ferrari’s 230th Grand Prix win in Formula 1.
सेबस्टियन वेट्टेल ने ऑस्ट्रेलियाई ग्रांड प्रिक्स जीता।
  • सेबास्टियन वेटेल 2018 में ऑस्ट्रेलियाई ग्रैंड प्रिक्स में किमी राइकॉनन और लुईस हैमिल्टन के पीछे और तीसरे स्थान पर थे लेकिन, फेरारी ने हैरान लुईस हैमिल्टन और मर्सिडीज से पहले और एकमात्र पिट स्टॉप के दौरान जीत को छीन लिया।
  • वेट्टेल ने फॉर्मूला वन में अपना 43 वां कैरियर जीत हासिल कर ली और इस खेल में पोडियम फिनिश के 100वां मौका भी दर्ज किया। 100 पोडियम फिनिश के साथ अन्य ड्राइवरों में माइकल शुमाकर और हैमिल्टन शामिल हैं। यह फ़ॉर्मूला 1 में फेरारी की 230 वां ग्रां प्री जीत भी थी।


Spotlight : Government Nominates Professor J S Rajput as India’s Representativeto the Executive Board of UNESCO

Government nominates Professor J S Rajput as India’s Representativeto the Executive Board of UNESCO.
  • The Government of India has decided to nominate Professor J S Rajput, former Director NCERT, as India’s representative to the Executive Board (EXB) of UNESCO. Professor J S Rajput is an eminent educationist with rich experience in various fields including UNESCO. Union Minister for Human Resource Development,Shri Prakash Javadekar during his participation in the General Conference of UNESCO meeting from 30th Oct to 4th Nov, 2017,actively mobilised support from various nations for India’s membership to the EXB, by meeting their Ministers. 
  • The EXB has a four-year term of office and 58 seats. The executive board is one of the constitutional organs of UNESCO and is elected by the General Conference. The executive board examines the work for the organization and the corresponding budget estimates. In practice, the executive board is the main organ responsible for all policies and programmes of UNESCO. The elections of Members of the EXB for the term 2017-21 took place on 8th November, 2017, in which India won with 162 votes in Group IV during the 39th session of the General Conference which was held from 30th October to 14th November, 2017.
  • Being a member of the board enables us in principle to play a role in shaping and reviewing UNESCO’s policies and programmes corresponding to its five major programs on education, the natural science, the social and human Sciences, Culture and Communication and Information.The next meeting (Session204) of Executive Board of UNESCO is to be held in UNESCO HQ at Paris, from 4 - 17 April, 2018. Professor J. S. Rajput is known for his contributions in reforms in school education and teacher education. He has held several assignments which include Professor in NCERT, 1974, Principal of the Regional Institute of Education Bhopal 1977-88, Joint Educational Adviser, Ministry of Human Resource Development, Government of India, 1989-94; Chairman, National Council for Teacher Education, NCTE, 1994-99 and the Director of the NCERT, 1999-2004. Prof. Rajput proposed valuable changes in school education curriculum as Director, NCERT popularly known as five Sai values: Truth, Peace, Nonviolence, Righteous Conduct (Dharma) and Love.
  • Though a professor of Physics, he is known for regulating the B.Ed correspondence courses as the first Chairman of NCTE and for starting the innovative two-year B.Ed course. His research publications in Physics earned him a Professorship at the age of 31 years. He has published research papers in several specialized areas in education, guided doctoral level researches and has authored several books. Professor Rajput’s association with UNESCO and other international agencies extends over three decades. UNESCO acknowledged his contributions by selecting him for the Prestigious Jan Amos Comenius Medal for outstanding contributions in research and innovations in the year 2004. He received this Award in July 2009.
  • He was invited By UNESCO in April-May 2005 to participate in the Evaluation of the UNESCO International Center for Technical and Vocational Education; UNEVOC; Bonn, Germany. He has completed a UNESCO project for Bremen University, Germany in 2007-08. In the recent past, he was invited to make presentations in the meetings of international experts on Technical and Vocational Education and Training organized by international agencies in Vietnam in July 2006 and in Adelaide. Australia in October 2006. He has also been awarded Maharishi Ved Vyas national Award by the Government of MP for lifelong contributions in Education. He has recently completed the project aimed at achieving religious amity through education and his edited book “Education of Muslims in India” was released by the Prime Minister of India Shri Narendra Modi on June 15, 2015. The Government of India awarded him Padma Shri in 2014
सरकार ने प्रो. जे. एस. राजपूत को यूनेस्को के कार्यकारी बोर्ड में भारतीय प्रतिनिधि के तौर पर नामित किया
  • भारत सरकार ने एनसीईआरटी के पूर्व निदेशक प्रोफेसर जेएस राजपूत को यूनेस्को के कार्यकारी बोर्ड में भारत के प्रतिनिधि के तौर पर नामित करने का निर्णय लिया है। प्रो. जेएस राजपूत एक सुप्रसिद्ध शिक्षा शास्त्री जिन्हें विविध क्षेत्रों में काम करने, जिसमें यूनेस्को भी शामिल है, का व्यापक अनुभव है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर 30 अक्टूबर से 4 नवंबर 2017 के दौरान यूनेस्को की आम सभा में भाग लेने के दौरान यूनेस्को के कार्यकारी बोर्ड में भारत की सदस्यता के लिये अन्य देशों के मंत्रियों से भेंट कर उनका सहयोग मांगा था। कार्यकारी बोर्ड में 58 सीटें होतीं है और कार्यकाल 4 वर्ष का होता है। कार्यकारी बोर्ड यूनेस्को का एक संवैधानिक अंग है जिसे आम सभा के द्वारा चुना जाता है। बोर्ड संस्था के कार्यकलाप और इससे जुड़े बजट अनुमानों की समीक्षा करता है। मूल रूप से कार्यकारी बोर्ड यूनेस्को की सभी नीतियों एवं कार्यक्रमों के लिये उत्तरदायी सबसे प्रधान संस्था है। 2017-21 के दौरान कार्यकारी बोर्ड के सदस्यों के चयन के लिये मतदान 8 नवंबर 2017 को हुआ था जिसमें 30 अक्टूबर से 14 नवंबर 2017 के बीच आयोजित आम सभा के 39वें सत्र के चतुर्थ समूह में भारत ने 162 मत प्राप्त किये थे।
  • बोर्ड का सदस्य होने के नाते हमें यूनेस्को की नीतियों और कार्यक्रमों के निर्धारण की समीक्षा में अहम भूमिका प्रदान करेगा जो कि इसके पांच मुख्य कार्यक्रमों - शिक्षा, प्राकृतिक विज्ञान, सामाजिक एवं मानव विज्ञान, संस्कृति और संचार एवं सूचना से संबद्ध हैं। बोर्ड की अगली बैठक पेरिस स्थित बोर्ड मुख्यालय में 4-17 अप्रैल 2018 को है। प्रो. राजपूत स्कूली शिक्षा और शिक्षक प्रशिक्षण में अपने योगदान के लिये जाने जाते हैं. उन्होंने कई पदों पर काम किया जिसमें 1974 में एनसीईआरटी में प्रोफेसर, 1977-88 के दौरान क्षेत्रीय शिक्षण संस्थान भोपाल के प्रधानाध्यपक, 1989-94 के दौरान भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय में सहायक शिक्षा सलाहकार, 1994-99 के दौरान राष्ट्रीय अध्यापक प्रशिक्षण परिषद के अध्यक्ष और 199-2004 के बीच वे एनसीईआरटी के निदेशक रह चुके हैं।
  • प्रो. राजपूत एनसीईआरटी के निदेशक के तौर पर पाठ्यक्रम में पांच मूल्यों को शामिल किया जो इस प्रकार हैं - सत्य, शांति, अहिंसा, सदाचरण (धर्म) एवं प्रेम। हाल ही में उन्होंने अपनी पुस्तक - भारत में मुस्लिमों की शिक्षा - पूरी की है जिसका उद्देश्य शिक्षा के माध्यम से धर्मों में समरसता का विकास करना है। इस पुस्तक का अनावरण 15 जून 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। भारत सरकार ने 2014 में उन्हें पद्म श्री से सम्मानित किया है।


Spotlight : Chennai - Salem Gets Air Connectivity Under UDAN

Chennai - Salem Gets Air Connectivity Under UDAN (Ude Desh ka Aam Nagarik)
  • The Chief Minister and Union Minister of State for Finance and Shipping Pon Radhakrishnan flagged off the first service, by private carrier Trujet, operated by Hyderabad-based Turbo Megha Airways, between the two cities, at a function held in Salem. This direct flight service was launched under the Regional Connectivity Scheme (RCS) of Centre’s UDAN (Ude Desh ka Aam Nagarik) scheme. The flight, with a seating capacity of 72, will leave Chennai at 9.50 am and land at Salem airport at 10.40 am. The ATR 72-600 aircraft takes off from Salem at 11 am to reach Chennai at 11.50 am. The tickets are priced at Rs 1,499 per person.
  • Mr Radhakrishnan, Civil Aviation secretary R.N. Choubay and others participated in the inaugural function at Salem airport, which has been unused after the Kingfisher airlines stopped its service in 2011. Officials have renovated the terminal building at Salem, installed lights on the runway and other operational areas. They have also installed baggage scanner machines and posted a bomb-squad, fire and rescue services personnel on the airport premises. Recently, Trujet launched flights to Vijayawada from Kadapa in Andhra Pradesh after putting Hyderabad and Chennai from Kadapa on its map. Kadapa airport director P Sivaprasad formally launched the services.
चेन्नई - सेलम के बीच यूडीएएन के तहत पहली सेवा का शुभारंभ
  • मुख्यमंत्री और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री और नौवहन मंत्री पोन राधाकृष्णन ने सालेम में आयोजित एक समारोह में दो शहरों के बीच हैदराबाद स्थित टर्बो मेघा एयरवेज द्वारा संचालित निजी वाहक ट्रूजेट द्वारा पहली सेवा का शुभारंभ किया। यह सीधी यूडीएएन सेवा केंद्र के उड़ान योजना के क्षेत्रीय सम्बद्धता योजना (आरसीएस) के तहत शुरू की गई है। 72 की बैठने की क्षमता वाला विमान चेन्नई से सुबह 9.50 बजे रवाना होगी और सालेम हवाई अड्डे पर 10.40 बजे तक पहुंच जाएगा। एटीआर 72-600 विमान सलेम से 11 बजे सुबह रवाना होगी और 11.50 बजे चेन्नई तक पहुंच जाएगा। टिकट की कीमत प्रति व्यक्ति 1,499 रुपये है।
  • श्री राधाकृष्णन, नागरिक उड्डयन सचिव आर.एन. चौबे और अन्य लोग सालेम हवाई अड्डे के उद्घाटन समारोह में भाग लिया, जो कि किंगफिशर एयरलाइंस के 2011 में अपनी सेवा बंद करने के बाद से इसका उपयोग नहीं किया गया है। अधिकारियों ने सलेम के टर्मिनल भवन का पुनर्निर्माण किया है, रनवे और अन्य परिचालन क्षेत्रों पर लाइट स्थापित किया है। उन्होंने सामान स्कैनर मशीनों को भी स्थापित किया है और हवाई अड्डे के परिसर में एक बम-दस्ता, अग्नि एवं बचाव सेवा कर्मियों को तैनात किया है। हाल ही में, ट्रूजेट ने आंध्र प्रदेश के कडपा से विजयवाड़ा की उड़ानें शुरू कीं, इसके मानचित्र पर हैदराबाद और चेन्नई को कडप्पा से जोड़ा है। कडप्पा एयरपोर्ट के निदेशक पी। सिपाप्रसाद ने औपचारिक रूप से सेवाओं का शुभारंभ किया।

Copyright © 2017-18 www.mahendraguru.com All Right Reserved Powered by Mahendra Educational Pvt . Ltd.