mahendras

Now Subscribe for Free videos

Subscribe Now

Saturday, 15 July 2017

Spotlight: Moving from 4G to 5G

Mahendra Guru : Online Videos For Govt. Exams
Spotlight: Moving from 4G to 5G
Data is going to drive Telecom Industry in near future said Manoj Sinha, India to emerge as a major player in 5G Subscriptions by 2022.

The Minister of Communications Shri Manoj Sinha said that the Telecom Ministry is dealing with an extremely dynamic industry and progressive market which is evolving at an extremely rapid rate. He said that with the increase in usage of Smartphones and an exponential increase in broadband usage, data is going to drive industry more and more rather than voice and therefore, the Ministry has initiated a move to relook at the current Telecom Policy through public consultation, as the need of the hour is to ramp up for the Digital era. Speaking at the 10th Anniversary Celebrations of IPTV Society here, Shri Sinha said that whether it is broadband spectrum, Internet adoption/availability, data protection, or cyber security, what was applicable five years back is no more relevant in today’s context, and new policies will need to be futuristic. They will also need to be capable of dealing with India’s challenges and figuring out ways to deal with those challenges. 

The Minister said, while the buzz today is 4G, we are already gearing ourselves for introduction of 5G. we need to think of and prepare for an ecosystem where Internet of Things (IoT) and Artificial Intelligence (AI) are mainstream, and connectivity is seamless, designed to improve the quality of e-governance and education, as well as to enable financial inclusion, smart cities, and an intelligent transportation system amongst other things. Shri Sinha quoting experts said that India, along with North America, will lead the way in numbers of 5G subscriptions by 2022, and that 5G will speed up the digital transformation in a number of industries, enabling new use cases in areas such as IoT, automation, transport and big data.

डेटा निकट भविष्य में दूरसंचार उद्योग को चलाने जा रहा है, मनोज सिन्हा ने कहा, भारत को 2022 तक 5 जी में एक प्रमुख खिलाड़ी के रूप में उभरने की बात सामने रखी।

संचार मंत्री श्री मनोज सिन्हा ने कहा कि दूरसंचार मंत्रालय अत्यधिक गतिशील उद्योग और प्रगतिशील बाजार से निपट रहा है जो एक अत्यंत तीव्र दर से विकसित हो रहा है। उन्होंने कहा कि स्मार्टफोन के उपयोग में वृद्धि और ब्रॉडबैंड उपयोग में एक घातीय वृद्धि के साथ, डेटा आवाज़ के बजाय उद्योग को अधिक से अधिक बढ़ाएगा और इसलिए, मंत्रालय ने सार्वजनिक परामर्श के माध्यम से वर्तमान दूरसंचार नीति पर पुनर्खरीद करने की दिशा में कदम उठाया है, चूंकि डिजिटल युग के लिए आगे बढ़ना समय की आवश्यकता है| आईपीटीवी सोसायटी की 10 वीं वर्षगांठ समारोह में श्री सिन्हा ने कहा कि क्या यह ब्रॉडबैंड स्पेक्ट्रम है, इंटरनेट गोद लेने / उपलब्धता, डेटा संरक्षण, या साइबर सुरक्षा, जो पांच साल पहले लागू थी, आज के संदर्भ में और अधिक प्रासंगिक नहीं है, और नए नीतियों को भविष्य की आवश्यकता होगी उन्हें भारत की चुनौतियों से निपटने और उन चुनौतियों से निपटने के तरीकों का पता लगाने में सक्षम होना चाहिए।
मंत्रीजी के अनुसार, आज चर्चा 4 जी की है, हम पहले से ही 5 जी की शुरुआत के लिए खुद को सजग कर रहे हैं। हमें चीजों (आईओटी) और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) की इंटरनेट की मुख्य धारा के बारे में सोचने और तैयार करने की आवश्यकता है, और कनेक्टिविटी सहज, ई-शासन और शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के साथ-साथ वित्तीय समावेशन को सक्षम करने के लिए बनाया गया है , स्मार्ट शहरों और अन्य चीजों के बीच एक बुद्धिमान परिवहन प्रणाली लागू करनी होगी। विशेषज्ञों का हवाला देते हुए श्री सिन्हा ने कहा कि भारत, उत्तरी अमेरिका के साथ, 2022 तक 5 जी का नेतृत्व करेगा, और 5 जी कई उद्योगों में डिजिटल परिवर्तन को गति देगा, आईओटी जैसे क्षेत्रों में नए उपयोग के मामलों को सक्षम करने से, स्वचालन, परिवहन और बड़े डेटा को ट्रान्सफर करेगा|

Union Minister Manoj Sinha launched BSNL's Rs 330-crore optical transport network.

Union minister Manoj Sinha launched state-run telecom major BSNL's Rs 330-crore 100G Optical Transport Network (NG-OTN).
NG OTN is aimed at providing a 99.99 per cent uptime and will be covering 100 cities across the country.
Network Operating Centre (NOC) has been made operational at Bengaluru for round the clock support. The project has already covered 45 cities and the remaining 55 will be done by March 2018.


केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा ने बीएसएनएल के 330 करोड़ रुपये का ऑप्टिकल ट्रांसपोर्ट नेटवर्क लॉन्च किया।
केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा ने राज्य की दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल के 330 करोड़ रुपये के 100 जी ऑप्टिकल ट्रांसपोर्ट नेटवर्क (एनजी-ओटीएन) का शुभारंभ किया।
एनजी ओटीएन का उद्देश्य 99.99 प्रतिशत अपटाइम प्रदान करना है और यह पूरे देश के 100 शहरों को कवर करेगा।
नेटवर्क ऑपरेटिंग सेंटर (एनओसी) को हर समय तत्पर रहने के लिए बेंगलुरु में चालू किया गया है। परियोजना पहले ही 45 शहरों को कवर कर चुकी है और शेष 55 को मार्च 2018 तक कर ले जाएगी।

RINL Signs MoU with CCI for setting up Cement Plant.

Rashtriya Ispat Nigam Limited, the corporate entity of Visakhapatnam Steel Plant and Cement Corporation of India (CCI), a PSU under Ministry of Heavy Industries and Public Enterprises signed a Memorandum of Understanding in Vishakhapatnam today to set up 2 mtpa Fly Ash and Blast Furnace Slag based Cement Plant in a Joint Venture in two phases of one million tonne capacity each. RINL generates a large quantity of BF slag and fly ash, prime raw material for the Cement Plant. 
Sri Manoj Misra, Chairman cum Managing Director representing CCI and Sri P.C. Mohapatra, Director (Projects) representing RINL signed the MoU in the presence of Sri P Madhusudan CMD, RINL. 
The JV Project cost is approximately Rs.150 Cr. RINL is offering around 35 acres of land for the proposed plant in its premises. The project is proposed to be completed in 15 months from the date of placement of order.

Spotlight : Memorandum Of Understandig

सीमेंट संयंत्र की स्थापना के लिए सीसीआई के साथ आरआईएनएल ने समझोता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये|

भारतीय इस्पात निगम लिमिटेड, विशाखापत्तनम स्टील प्लांट और सीमेंट कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (सीसीआई) की एक कॉर्पोरेट इकाई, जो भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय के तहत सार्वजनिक क्षेत्र की एक इकाई है, ने आज विशाखापटनम में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए, जिसमें 2 एमटीएपी फ्लाई ऐश और ब्लास्ट फर्नेस स्लैग स्थापित करने की बात की गयी है। आधारित सीमेंट प्लांट एक संयुक्त उद्यम में दो चरणों में एक लाख टन क्षमता के प्रत्येक चरण में होगा। आरआईएनएल बड़ी मात्रा में बीएफ स्लैग और फ्लाई ऐश बनाएगा जो सीमेंट प्लांट के लिए प्रमुख कच्चा माल होता है।
श्री मनोज मिश्रा, अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक, सी सी आई की ओर से और श्री पी.सी. महापात्र, आरआईएनएल का प्रतिनिधित्व करने वाले निदेशक (परियोजना) ने श्री पी मधुसूदन, सीएमडी, आरआईएनएल की उपस्थिति में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए


Fastest Drone set the world record at 263 kmph.

A drone named 'DRL Racer X' on Friday set Guinness World Record for the fastest drone by hitting a top speed of 263 kmph. This speed is more than the top speed of the fastest Tesla car, Model S in Ludicrous Mode. The earlier prototypes of the drone had burst into flames when hitting their highest speed.


                                         


सबसे तेज ड्रोन का 263 किमी प्रति घंटे का विश्व रिकॉर्ड दर्ज|

शुक्रवार को 'डीआरएल रेसर एक्स' नामक एक ड्रोन ने 263 कि.मी. प्रति सेकंड की गति के साथ सबसे तेज़ ड्रोन के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज कर लिया है। यह गति सबसे तेज़ टेस्ला कार मॉडल एस में लुसीसोड मोड की शीर्ष गति से अधिक है। ड्रोन का पहला प्रोटोटाइप आग में फट गया था जब उसे उच्च गति में उड़ाया गया था।

0 comments:

Post a Comment

MAHENDRA GURU

Copyright © 2017-18 www.mahendraguru.com All Right Reserved Powered by Mahendra Educational Pvt . Ltd.