mahendras

Now Subscribe for Free videos

Subscribe Now

Friday, 27 April 2018

Spotlight: Indu Malhotra Sworn In As Supreme Court Judge

Mahendra Guru : Online Videos For Govt. Exams
Spotlight: Indu Malhotra Sworn In As Supreme Court Judge
Indu Malhotra Sworn in as Supreme Court Judge

Senior advocate Indu Malhotra was sworn in as a Supreme Court judge, by Chief Justice of India Dipak Misra. This makes her the first woman lawyer to be directly elevated to the position of an apex court judge.

She has represented various statutory corporations like the Securities Exchange Board of India (SEBI), the Delhi Development Authority (DDA), the Council for Scientific and Industrial Research (CSIR) and the Indian Council for Agricultural Research (ICAR) before the Supreme Court, as well as bodies like the National Commission for Women.

इंदु मल्होत्रा ने सुप्रीम कोर्ट के जज के रूप में शपथ ली 

इंदु मल्होत्रा को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने शपथ दिलाई। इसी के साथ इंदु मल्होत्रा सीधे सुप्रीम कोर्ट की जज बनने वाली पहली महिला वकील बन गई है।

इन्होंने सिक्योरिटीज एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी), दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए), वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) जैसे सुप्रीम कोर्ट के समक्ष विभिन्न वैधानिक निगमों के साथ ही महिलाओं के लिए राष्ट्रीय आयोग जैसे निकायों का प्रतिनिधित्व किया है।


Krishan Kumar appointed as the next Ambassador of India to Norway

Krishan Kumar an IFS of 1984 batch, presently Ambassador of India to the Czech Republic, has been appointed as the next Ambassador of India to the Kingdom of Norway.

NORWAY :
Capital: Oslo
Currency : krone
Prime minister: Erna Solberg



कृष्ण कुमार को नॉर्वे में भारत के अगले के रूप में राजदूत नियुक्त किया गया है|

कृष्ण कुमार, 1984 बैच के आईएफएस, वर्तमान में चेक गणराज्य में भारत के राजदूत, को नॉर्वे के राज्य में भारत के अगले राजदूत नियुक्त किया गया है।


नॉर्वे
राजधानी: ओस्लो
मुद्रा: क्रोन
प्रधान मंत्री: अर्ना सोलबर्ग


CSIR is awarded the National Intellectual Property (IP) Award 2018 

The Council of Scientific and Industrial Research (CSIR) is awarded the National Intellectual Property (IP) Award 2018 in the category “Top R&D Institution / Organization for Patents and Commercialization”. 


The award was given at a function organized by Indian Intellectual Property Office and Confederation of Indian Chambers of Commerce (CII) in New Delhi, on the occasion of World Intellectual property day.

The Indian Intellectual Property Office confers National Intellectual Property (IP) Award to outstanding innovators, organizations and companies in the fields of patents, designs, trademarks and geographical indications on the occasion of World IP Day every year.

World Intellectual Property Day

World Intellectual Property Day is observed annually on 26 April. The event was established by the World Intellectual Property Organization (WIPO) in 2000 to "raise awareness of how patents, copyright, trademarks and designs impact on daily life".

The date of April 26 was chosen because in the year 1970,the World Intellectual Property Organization was established.


                                     Spotlight: CSIR is Awarded The National Intellectual Property (IP) Award 2018
सीएसआईआर को राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा (आईपी) पुरस्कार 2018 से सम्मानित किया गया 

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) को "शीर्ष अनुसंधान एवं विकास संस्थान / पेटेंट और व्यावसायीकरण संगठन" श्रेणी में राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा (आईपी) पुरस्कार 2018 से सम्मानित किया गया है।

यह पुरस्कार विश्व बौद्धिक संपदा दिवस 2018 के अवसर पर भारतीय बौद्धिक संपदा कार्यालय और भारतीय चैंबर ऑफ कॉमर्स (सीआईआई) द्वारा आयोजित एक समारोह में दिया गया है।

भारतीय बौद्धिक संपदा कार्यालय हर वर्ष विश्व बौद्धिक संपदा दिवस के अवसर राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा (आईपी) पुरस्कार पेटेंट, डिजाइन, ट्रेडमार्क और भौगोलिक संकेतों के क्षेत्र में उत्कृष्ट नवप्रवर्तनकों, संगठनों और कंपनियों को प्रदान करता है।

विश्व बौद्धिक संपदा दिवस 

विश्व बौद्धिक संपदा दिवस हर वर्ष 26 अप्रैल को मनाया जाता है। इसकी स्थापना वर्ष 2000 में विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (डब्ल्यूआईपीओ) द्वारा "पेटेंट, कॉपीराइट, ट्रेडमार्क और डिजाइन का दैनिक जीवन पर प्रभाव" के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए की गयी थी|


26 अप्रैल की तारीख इसलिए चुनी गई क्योंकि वर्ष 1970 में इसी दिन विश्व बौद्धिक संपदा संगठन की स्थापना हुई थी|

Copyright © 2017-18 www.mahendraguru.com All Right Reserved Powered by Mahendra Educational Pvt . Ltd.