mahendras

IBPS RRB 2018 | SBI Clerk 2018 | SBI PO 2018 | BOB PO 2018 | SSC CGL 2018 | RPF Constable 2018 | RRB ALP 2018 | RRB Group D 2018 | Rajasthan Constable 2018 | UP Police Constable 2018 | RBI Assistant 2018 | RBI Grade B 2018

Now Subscribe for Free videos

Subscribe Now

Thursday, 29 March 2018

Spotlight : RBI Slaps Rs 58.9 Crore Fine on ICICI Bank

mahendra Guru

Spotlight : RBI Slaps Rs 58.9 Crore Fine on ICICI Bank

RBI Slaps Rs 58.9 Crore Fine on ICICI Bank
  • The Reserve Bank of India, has imposed a penalty of Rs 58.9 crore on ICICI Bank, the country's biggest private bank and the third biggest overall, for failure to adhere to rules on sale of bonds in the held-to-maturity (HTM) category.
  • This penalty has been imposed in exercise of powers vested in RBI taking into account failure of the bank to adhere to the aforesaid directions/guidelines issued by RBI.
  • This is the first instance of a bank being charged with a fine of this quantum for non-compliance of this nature.
  • Banks need to disclose the amount of securities they keep under the HTM segment under which the papers are held until maturity and cannot be used for intra-day trading.
  • At present, RBI allows banks to sell securities from HTM subject to certain limits and disclosure rules.
आईसीआईसीआई बैंक पर आरबीआई ने 58.9 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया
  • भारतीय रिजर्व बैंक ने आईसीआईसीआई बैंक पर, हेल्ड टिल मेचूरीटी (एचटीएम) श्रेणी में बॉन्ड की बिक्री पर नियमों का पालन करने में विफल रहने पर 58.9 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।
  • भारतीय रिजर्व बैंक ने आरबीआई द्वारा जारी दिशानिर्देशों / दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए बैंक की विफलता को ध्यान में रखते हुए अधिकारो के इस्तेमाल में यह जुर्माना लगाया गया है।
  • इस प्रकृति का अनुपालन करने के लिए इस मात्रा में जुर्माना लगाए जाने का यह पहला उदाहरण है।
  • बैंकों को एचटीएम सेगमेंट के तहत रखने वाली सिक्योरिटीज की संख्या का खुलासा करने की जरूरत होती है जिसके तहत कागजात परिपक्वता तक रखे जाते हैं और इंट्रा-डे ट्रेडिंग के लिए उपयोग नहीं किया जा सकता है।
  • वर्तमान में, आरबीआई बैंकों को कुछ सीमाओं और प्रकटीकरण नियमों के अधीन एचटीएम से प्रतिभूतियों को बेचने की अनुमति देता है।


Spotlight : American Dicarlo Becomes First Female UN Political Chief

American DiCarlo becomes first female UN political chief
  • American diplomat Rosemary DiCarlo has been appointed as the head of UN political affairs. She is the first woman to be appointed on this post.
  • DiCarlo will replace Jeffrey Feltman, another American who held the post of under-secretary-general for political affairs since 2012, overseeing UN efforts to end conflicts worldwide.
संयुक्त राष्ट्र में राजनीतिक मामलों को संभालने वाली पहली महिला प्रमुख बनीं अमेरिका की डिकार्लो

  • अमेरिकी राजनयिक रोजमेरी डिकार्लो को संयुक्त राष्ट्र के राजनीतिक मामलों का प्रमुख नियुक्त किया गया है। वह इस पद पर आसीन होने वाली पहली महिला हैं।
  • डिकार्लो फिलहाल इस पद पर आसीन जेफरी फेल्टमैन की जगह लेंगी। जेफरी 2012 से ही संयुक्त राष्ट्र महासचिव के मातहत इस पदपर कार्यरत थे और पूरी दुनिया में संघर्षों को समाप्त करने के संगठन के प्रयासों की निगरानी कर रहे थे।


Spotlight : Cabinet Approves MoU Between India And Zambia In The Field Of Judicial Cooperation



Cabinet Approves MoU Between India And Zambia In The Field Of Judicial Cooperation

  • The Union Cabinet chaired by Prime Minister Narendra Modi has approved the signing of the Memorandum of Understanding (MoU) between India and Zambia in the field of Judicial Cooperation.
  • During recent years, social, cultural and commercial relations between India and Zambia have developed in the positive direction. Signing of an agreement on cooperation in the field of justice will further enhance good relations between the two countries and add new dimensions in the field of judicial reforms.
मंत्रिमंडल ने न्‍यायिक सहयोग के क्षेत्र में भारत और जांबिया के बीच समझौता ज्ञापन को स्‍वीकृति दी
  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्रीयमंत्रिमंडल ने न्‍यायिक सहयोग के क्षेत्र में भारत और जांबिया के बीच समझौता ज्ञापन को स्‍वीकृति दे दी है।
  • हाल के वर्षों में भारत और जांबिया के बीच साम‍ाजिक,सांस्‍कृतिक और वाणिज्‍यक संबंध सार्थक दिशा में विकसित हुए हैं। न्‍याय के क्षेत्र में सहयोग समझौते पर हस्‍ताक्षर से दोनों देशों के बीच बेहतर संबंध और मजबूत होंगे और न्‍यायिक सुधारों को नई दिशा मिलेगी।

Copyright © 2017-18 www.mahendraguru.com All Right Reserved Powered by Mahendra Educational Pvt . Ltd.