mahendras

IBPS PO 2018 | IBPS Clerk 2018 | IBPS RRB 2018 | SBI PO 2018 | BOB PO 2018 | SSC CGL 2018 | RPF Constable 2018 | RPF SI | RRB ALP 2018 | RRB Group D 2018

Now Subscribe for Free videos

Subscribe Now

Tuesday, 13 February 2018

Spotlight: Gadkari Releases India's First 'Highway Capacity Manual'

Mahendra Guru : Online Videos For Govt. Exams


Spotlight: Gadkari Releases India's First 'Highway Capacity Manual'



Gadkari releases India's first 'Highway Capacity Manual'

Union Minister Nitin Gadkari today released country's first ever Highway Capacity Manual (HCM) which will guide road engineers and policymakers about road expansion.

The manual known as 'Indo-HCM' has been developed by CSIR-CRRI on the basis of an extensive, country-wide study of the traffic characteristics on different categories of roads like single lane, two-lane, multi-lane urban roads, interurban highways and expressways and the associated intersections on these roads, the Ministry of Road Transport and Highways said in a statement.

The road transport and shipping minister "released India's first ever Highway Capacity Manual. The manual will guide Road Engineers and Policy Makers about Road Expansion".

The study involved seven academic institutions including IIT-Roorkee, Mumbai and Guwahati, School of Planning and Architecture, New Delhi, Indian Institute of Engineering and Science and Technology, Shibpur, Sardar Vallabhai Patel National Institute of Technology, Surat and Anna University, Chennai.

गडकरी ने देश की पहली ‘राजमार्ग क्षमता नियमावली’ पेश की

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने देश की पहली ‘राजमार्ग क्षमता नियमावली’ (एचसीएम) पेश की। यह सड़क अभियंताओं और नीति निर्माताओं को सड़क विस्तार में मदद करेगी।

इस नियमावली को ‘इंडो-एचसीएम’ के तौर पर जाना जाता है। इसे वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद के तहत आने वाले केंद्रीय सड़क अनुसंधान संस्थान (सीएसआईआर-सीआरआरआई) ने तैयार किया है।

इसे तैयार करने के लिए संस्थान ने देशभर में विभिन्न प्रकार की सड़कों पर यातायात के दबाव का गहन अध्ययन किया है। इसमें सिंगल लेन, डबल लेन, शहरी सड़कों की मल्टी लेन के साथ अंतर-शहरी राजमार्ग और एक्सप्रेसवे के साथ इनसे जुड़ने वाली सहयोगी सड़कों इत्यादि पर यातायात के दबाव का अध्ययन किया गया है।

इस अध्ययन में सीआरआरआई ने सात शैक्षणिक संस्थानों की भी मदद ली। इनमें आईआईटी-रुड़की, मुंबई और गुवाहाटी, योजना एवं वास्तुकला विद्यालय-नयी दिल्ली, भारतीय अभियांत्रिकी विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान-शिवपुर, सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय तकनीक संस्थान सूरत और अन्ना विश्वविद्यालय चेन्नई शामिल हैं।

Copyright © 2017-18 www.mahendraguru.com All Right Reserved Powered by Mahendra Educational Pvt . Ltd.